Breaking News

जब लेखक ने मरते मरते लिखा था फिल्म शहंशाह का क्लाइमैक्स, अस्पताल में ली थी आखरी सांस

बता दें के अमिताभ बच्चन आज बॉलीवुड में बिग बी के नाम से जाने जाते हैं और उन्होंने बॉलीवुड में एक से बढ़कर एक फिल्मों में काम किया है.और अपनी एक्टिंग का लोहा पूरे विश्व में अमिताभ बच्चन आज बॉलीवुड के सबसे बड़े एक्टर के तौर पर देखे जाते हैं और अमिताभ अपने काम को लेकर काफी सीरियस भी नजर आते हैं. फिलहाल अगर अमिताभ बच्चन की बात करें तो वह अब फिल्मों में कम ही काम करते हैं. वह अधिकतर टीवी शोज को होस्ट करते हुए नजर आते हैं और उनका फेवरेट शो कौन बनेगा करोड़पति है. और या शो को काफी सालों से होस्ट करते हुए नजर आ रहे हैं.

साल 1983 में टीनू आनंद ने बनाई एक फिल्म

बता दें कि साल 1983 में टीनू आनंद ने एक फिल्म बनाई और यह फिल्म शहंशाह के रूप में जाने जाते हैं. इस फिल्म को अमिताभ बच्चन के कंपैक्ट के रूप में देखा जाता है. बता दें कि आप फिल्म सुपरमैन से प्रेरित थी. इस फिल्म में अमिताभ बच्चन अहम भूमिका में नजर आए थे और यह फिल्म अमिताभ की अब तक की सबसे बेस्ट फिल्म आने जाती है.

इस फिल्म में उन्होंने दो किरदार निभाए थे दरअसल इस फिल्म में अमिताभ ने एक डरपोक और रिश्वतखोर पुलिस अफसर का किरदार निभाया था. तो वहीं दूसरा किरदार उन्होंने शहंशाह का निभाया था जो समाज के असामाजिक तत्व से लड़ता हुआ नजर आता है. इस फिल्म में अपने जमाने में खूब सुर्खियां बटोरी थी.और या फिल्म बॉलीवुड में आज ही याद की जाती है और लोग इस फिल्म को आज भी देखना पसंद करते हैं. फिल्म शहंशाह में अमिताभ बच्चन के साथ बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमरीश पुरी भी नजर आए थे.

मरते मरते लेखक ने लिखा था फिल्म का क्लाइमैक्स

बता दें कि शहंशाह मूवी का डायलॉग टीनू आनंद के पिता इंद्र राजा नंद ने लिखा था . और इस फिल्म की कहानी जया बच्चन ने लिखी थी बता दे किस फिल्म का डायलॉग लिखने से पहलेटीनू के पिता इंदर राज आनंद एक बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती हो गए थे.

और टीनू आनंद को ऐसा लगने लगा था क्योंकि फिल्म लटक जाएगी लेकिन तभी अस्पताल में टीनू आनंद को उदास देख उनके पिता इंद्र राज आनंद ने उन्हें पास बुलाया और कहा कि घबराओ नहीं मैं तुम्हारी फिल्म का क्लाइमेक्स लिखने के बाद ही अपनी आखिरी सांस लूंगा. इस दौरान इंद्राज आनंद ने अपने असिस्टेंट को बुलवाया और फिल्म के डायलॉग को लिखवाया. जब फिल्म का डायलॉग पूरी तरह से कंप्लीट हो गया तो टीनू आनंद खुशी-खुशी फिल्म के सेट पर फिल्म शहंशाह की शूटिंग करने के लिए चले गए और इसी बीच खबर आती है कि इंद्र राज आनंद अब इस दुनिया में नहीं रहे.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.