Breaking News

इस शक्श ने बनाए अद्भुत रिकॉर्ड, छत पर ही उगाता है 100 किलो चावल

आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान के पास बहुत कम ही समय बचता है .और आज के आधुनिक जीवन में जहां हम अपनी जिंदगी को आसान बनाने के लिए घर में कूलर और पंखे का उपयोग करते हैं. वहीं कुछ लोग अपने छत पर बचे हुए स्थानों पर फल और सब्जियां उगते हैं.ताकि उन्हें ताजा फल और सब्जियां प्राप्त हो सके.आपने अक्सर देखा होगा की लोग अपने छत पर थोड़ी मंत्र सब्जियां उगाते हैं.लेकिन क्या आपने सुना है की कोई शक्श अपने छत के उप्पर चावल की खेती करते हुए दिखे.अगर नहीं तो हम बात कर रहे है विश्वनाथ श्रीकांत की जो अपने छत पर चावल उगाने के लिए मशहूर हैं.श्रीकांत इस चावल को उगाने के लिए इस्तेमाल हों चुके पानी का उपयोग करते हैं

बंगलौर के रहने वाले हैं विश्वनाथ

हम आपको बता दें की विश्वनाथ कर्नाटक की राजधानी बंगलौर के रहने वाले हैं.जो अपने घर की छत पर खेती करते हुए नजर आते हैं.इनकी छत की लंबाई 100 स्क्वारफिट में फैली हुई है.विश्वनाथ करीब साल में 100 किलो चावल अपने छत की खेतीब्से ही उगा लेते हैं.जिससे उन्हें बाजार से चावल खरीदने की आवश्यकता नहीं पड़ती.विश्वनाथ करीब s चावल की खेती में अपने घर का उपयोग हुआ पानी का इस्तेमाल करते हैं.श्रीकांत नहाने से लेकर कपड़े धोने तक के पानी का इस्तेमाल चावल की खेती में करते हैं .और वह ताजे पानी को सेव कर लेते हैं.

परकृति जैसा बनाया हुआ है घर.

विश्वनाथ ने अपना घर काफी शानदार बनाया हुआ है.इन्होंने अपने घर के चारो तरफ पेड़ पौधे लगाए हुए हैं.और इनका घर पेड़ पौधे होने की वजह से काफी ठंडा रहता हैं.श्रीकांत बताते हैं की पेड़ पौधे की वजह से मेरा घर गर्मियोंमे इतना ठंड रहता है की मुझे पंखे कूलर और एसी लगाने की आवश्यकता नही पड़ती है.क्योंकि उनका घर प्रकृति रूप से हवादार है. वहीं विश्वनाथ ने बारिश के पानी को भी व्यर्थ नही जाने देते है .उन्होंने अपने घर में बारिश के पानी को जमा करने के लिए वाटर टैंक भी लगाया हुआ है.जिसे वह हर साल 1 लाख लीटर बारिश का पानी जमा हो जाता है.और इस पानी से वह गहर्वके दूसरे काम करते हैं.विश्वनाथ चावल के साथ साथ सीजनल सब्जियां भी उगाते हैं.विश्वनाथ को नजर से न तो चावल और न ही सब्जियां खरीदने की आवश्यकता पड़ती है.विश्वनाथ ने घर पर सोलर भी लगा रखा जिससे वह बिजली को भी बचाते हैं.

अलग अलग प्रकार के उगाते हैं चावल

विश्वनाथ तीन तीन प्रकार के चावल अपने घर उगाते हैं.जिसकी सुगंध काफी शानदार रहती है.बता दें की किचन और गार्डेन वेस्ट के जरिए श्रीकांत खुद अपने हाथो से घाग तैयार करते हैं.जिससे उन्हें अच्छी पैदावार मिलती है

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.