Breaking News

23 की उम्र में ठुकराई 1 करोंड़ की जॉब, खड़ी की 100 करोंड़ की कंपनी

कुछ फैसले ऐसे होते हैं जिनपर बिना सोंचे-समझे निर्णय लेना किसी भी व्यक्ति को भारी पड़ सकता है। कई बार लोगों के सामने ऐसी परिस्थितियां आ जाती हैं जहां उन्हें हां या ना में जवाब देना होता है। कुछ लोग होते हैं जो बिना आंकलन के हां या ना में जवाब देकर बात को रफा-दफा करते हैं जबकि कुछ व्यक्ति इसपर गहरा चिंतन करते हैं।

आज हम आपको एक ऐसी महिला के विषय में बताने जा रहे हैं जिसने अपने फैसले से सभी को चौंका कर रख दिया। इनका नाम विनीता सिंह है। ये वैश्विक स्टार्टअप रियलिटी शो के भारतीय रूपांतरण, शार्क टैंक इंडिया पर जज हैं। इसके अलावा भारत की लीडिंग कॉस्मेटिक कंपनी शुगर की संस्थापक हैं।

आज इनकी कंपनी शुगर भले ही स्टार्टअप्स की दुनिया में लीड कर रही हो लेकिन एक समय़ ऐसा भी था जब विनीता को मुंबई में माचिस के डिब्बे से छोटे घर में रहना पड़ा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विनीता ने अपना पढ़ाई आईआईएम अहमदाबाद से कंप्लीट की थी। साल 2007 में उन्हें 1 करोंड़ का प्लेसमेंट मिला। लेकिन उन्होंने इसे स्वीकार नहीं किया। उन्होंने कंपनी द्वारा दिए गए ऑफर को रिजेक्ट कर दिया और फैसला लिया कि वे अपना स्टार्टअप करेंगी।

लोगों ने कहा था पागल

success story of sugar cosmetics founder vineeta singh

उस दौरान उनके इस निर्णय ने सभी को चौंका कर रख दिया था। लोगों ने उन्हें पागल तक घोषित कर दिया था। लेकिन वे नहीं मानी और वे अपने फैसले पर डटी रहीं। अपने एक इंटरव्यू के दौरान विनीता ने बताया था कि जब वे सातवीं क्लास में थी उस दौरान उनकी टीचर ने उनसे एक कहा था कि वे उद्यमी क्यों नहीं बन जाती। उन्होंने बताया कि टीचर की यह बात उनके दिल में घर कर गई। जिसके बाद उन्होंने फैसला लिया कि वे एक बिजनेस वुमेन ही बनेंगी।

अपनी स्कूल की शिक्षा खत्म करने के बाद वे आईआईएम अहमदाबाद पहुंची। यहां उनकी मुलाकात कौशिक मुखर्जी से हुई। दोनों के विचार काफी मिलते-जुलते थे, यही कारण था कि आगे चलकर दोनों ने साथ में ही बिजनेस सेट किया और शादी कर ली। आज दोनों एक बच्चे के माता-पिता भी बन चुके हैं।

जानकारी के अनुसार, मुंबई में विनीता ने काफी मशक्कत के बाद शुगर नाम की कॉस्मेटिक कंपनी की स्थापना की। उन्होंने इसके लिए दिन रात एक कर दिया। काफी रिसर्च के बाद उन्हें पता चला कि भारत में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में क्वालिटी की मांग अधिक है।

उन्होंने अपनी कंपनी में बनाए जाने वाले प्रोडक्ट्स में इसी के तहत काम किया। इसके फलस्वरुप कुछ ही दिनों में उनकी कंपनी आसमान छूने लगी है। आज शुगर का टर्नओवर 100 करोंड़ से भी अधिक का है। गौरतलब है, कंपनी के साथ-साथ वे युवाओं को उद्यमी बनाने पर भी ज़ोर दे रही हैं। यही कारण है कि उन्होंने शार्क टैंक जैसे शो को ज्वाइन किया और लोगों को उनके आइडियाज़ के लिए प्रेरित किया।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.