Breaking News

कौमी एकता की मिसाल बना भोपाल, मुस्लिमों ने की फूल की बारिश तो कहीं हिंदू दे रहे हैं इफ्तार पार्टी

देश में रामनवमी के मौके पर अलग अलग शहरों से हिंसा की खबरे हमे सुनना की मिली.इस देश में कुछ लोगों के बीच काफी नफरत देखने को मिलती है. तो ज्यादातर लोग अमन के शांति और हिंदू मुस्लिम एकता के साथ रहना चाहते हैं.बाइट दिनो रामनवमी को लेकर सोशल मीडिया पर अनेक प्रकार की विडियोज वायरल हो रही है.जिसमे दो समुदाय के बीच हिंसा देखने का माहौल मिला.कहीं पर लोग गलत नारेबाजी करते दिखे तो कहीं पर हथियार उठाए लहराए हुए नजर आएं.और इन वजह से आम नागरिकों के बीच इसका गलत मेसेज पहुंचा. वहीं इसी बीच एक कौमी एकता का मिसाल देखने को मिली जब लोगों ने कहा के यह है असली भारत.

मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना.

बता दें की देश में एक तरफ जहां हिंसा भड़क रही है तो वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से एक बेहद खूबसूरत विडियोज वायरल हो रहा है.और लोग सोशल मीडिया पर इसे खूब वायरल कर ने में लगे हुए है.यहां पर मुस्लिम भाइयों ने कौमी एकता की मिसाल पैदा की और पूरे देश के लोगों को ये संदेश दिया की मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना.

मुस्लिमों ने बरसाए फूल

दरअसल मध्यप्रदेश के खरगोन में कुछ दंगाइयों ने रामनवमी के जुलूस में हिंसा फैला दी थी.लेकिन भोपाल से ठीक इसकी उल्टी खबर आई.16 अप्रैल को हुई हनुमान जयंती के मौके पर भोपाल में कई आयोजन हुए ,और इसी दौरान भोपाल में शोभा यात्रा निकाली गई .और इस यात्रा में कौमी एकता देखने को मिली और .मुस्लिम समुदाय में शोभा यात्रा के दौरान फूल बरसाते हुए दिखे.

कटिहार बना मिसाल

वहीं इन दिनों सोशल मीडिया पर एक तौर तस्वीर काफी वायरल हो रही है.और इस तस्वीर को लोग खूब प्यार देते हुए नजर आ रहे है.बता दें की रामनवमी के अवसर पर हिंदू समाज ने जुलूस निकाला था.और इस जुलूस में हिंदू मुस्लिम एकता देखने को मिली.कटिहार के फकरतकीय चौक स्तिथ एक मस्जिद के पास हिंदू भगवादारियों ने मानव श्रंखला बना कर जुलूस को शांतिपूर्ण तरीके से निकाला गया.और अब इस तस्वीर को लोग अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.और एक यूजर्स ने लिखा ये ही है हमारा असली हिंदुस्तान.

इफ्तार पार्टी का आयोजन

महाराष्ट्र के पुणे के मंदिर में इफ्तार पार्टी का आयोजन कराया गया .और शुक्रवार 15 अप्रैल को शाम 6.30 बजे के करीब इफ्तार आर्टी रखी गई.इफ्तार पार्टी का आयोजन हनुमान जयंती के इस मौके सखालीपीर तालीम राष्ट्रीय मारुति मंदिर में कराया गया.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *