Breaking News

पत्नी की मोहब्बत में शख्स ने कर दी हदें पार, Thailand से India के लिए हुआ नाव पर सवार

आप सबने बॉलीवुड की सुपहरहिट फिल्म शिद्दत तो देखी ही होगी। इस फिल्म में हीरो अपनी हीरोइन से मिलने के लिए कैसे इंग्लिश चैनल तैर कर पार करने की कोशिश करता है। इसके बावजूद जब वह सफल नहीं होता है तो वह हवाई जहाज के नीचे बैठकर अपने प्यार से मिलने के लिए पहुंचने की कोशिश करता है लेकिन रास्ते में वह एक हादसे का शिकार हो जाता है और उसकी मौत हो जाती है।

वैसे ज्यादातर फिल्मों में हीरो-हीरोइन अंत में मिल ही जाते हैं लेकिन शिद्दत में ऐसा नहीं हुआ। एक प्रेमी अपनी प्रेमिका से मिले बगैर ही इस दुनिया से चलता हो लिया। इस फिल्म ने दर्शकों को काफी इमोशनल कर दिया था। लेकिन क्या आपको पता है कि इस रील लाइफ की कहानी से जुड़ी एक सच्ची घटना भी है। जी हां, आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति के विषय में बताने जा रहे हैं जिसने अपनी पत्नी से मिलने के लिए समुद्र की ऊंची-ऊंची लहरों को पार करने का फैसला किया और रॉफ्टिंग बोट के जरिये अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए चल दिया।

समुद्र पार कर पत्नी से मिलने के लिए रवाना हुआ हो

इस शख्स का नाम हो होआंग हंग है। वियतनाम के इस शख्स ने अपनी पत्नी से मिलने के लिए सात समुंदर पार करने का फैसला किया और रॉफ्टिंग बोट लेकर समुद्र में उतर गया। उसने फैसला किया कि वह 2000 किमी का सफर नाव के जरिये तय करेगा। बता दें, हो की पत्नी पिछले दो सालों से भारत में नौकरी कर रही है। कोविड-19 की वजह से वह अपने वतन थाईलैंड नहीं जा सकी है। यही कारण है कि पति-पत्नी पिछले दो सालों से एक-दूसरे से मिलने के लिए तड़प रहे हैं।

पकड़ा गया हो

इसी तड़प ने हो को समुद्र पार कर मुंबई पहुंचने का आइडिया दिया। वह बंगाल की खाड़ी से होते हुए मुंबई के लिए निकल पड़ा। हालांकि, सिमिलियन द्वीप के पास नौसेना के एक दस्ते ने एक फिशिंग बोट को देख लिया था जिसपर उन्हें शक हुआ। हो को थाई मैनलेंड से 80 किलोमीटर की दूरी पर पकड़ा गया। उसके पास से नौसेना को अधिकारियों को पानी की कई खाली बोतलें, इंस्टेंट नूडल्स के 10 पैकेट और एक सूटकेस मिला। इसके अलावा जांच के दौरान न तो उसके पास कपड़े मिले, न नक्शा, न जीपीएस और न ही कंपस मिला।

बताया जा रहा है कि 2 मार्च को हो ची मिन्ह शहर होते हुए बैंकाक पहुंचा था। यहां पहुंचने के बाद उसे पता चला कि बिना वीज़ा के उसका भारत पहुंचना नामुमकिन है। लेकिन इसके बावजूद हो ने हार नहीं मानी उसने बैंकॉक से फ़ुकेत के लिए बस ली और वहां पहुंच गया। यहां पहुंचकर हो ने एक इन्फ़्लैटेबल बोट खरीदी और 5 मार्च को समंदर में उतर गया। उसने फैसला कर लिया था कि वह 2000 किमी का सफर नाव के जरिये तय करेगा।

जानकारी के मुताबिक, थाईलैंड से भारत तक का सफर नाव के जरिये तय करने के लिए हो को 625 दिन लगते। हालांकि, यह सब जानने के बावजूद वह अपनी पत्नी से मिलने के लिए इतना उत्सुक था कि वह यह खतरा भी उठाने के लिए तैयार हो गया था।

18 रातों तक समुद्र की लहरों से लड़ता रहा

रिपोर्ट्स के अनुसार, हो लगभग 18 रातों तक अकेला समुद्र की लहरों से लड़ता हुआ भटकता रहा। अधिकारियों ने बताया कि, जिस वक्त हो को पकड़ा गया उसके पास से ज्यादा कुछ तो नहीं बस कुछ पानी और खाने के पैकेट्स मिले। थाई मैरिटाइम एन्फ़ोर्समेंट कमांड सेन्टर के कैप्टन पिचेट सोन्गटन ने कहा कि, मेरी टीम ने वियतनाम दूतावास और भारतीय दूतावास से बात की है लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.