Breaking News

कहानी उस राजा की जिसने अपनी दरियादिली में बहा दी थी राज्य की सारी दौलत

आमतौर पर दौलत तो सबके पास होती है लेकिन दिल हर किसी के पास नहीं होता। कई बार लोग धन से तो अमीर होते हैं लेकिन नियत से गरीब ही रहते हैं। हालांकि, आज हम जिसके बारे में बात करने जा रहे हैं वह शख्स धन से भी अमीर था और दिल से भी।

1312 में मूसा ने संभाला साम्राज्य

यह शख्स कोई और नहीं पश्चिमी अफ्रीका के राजा मंसा मूसा थे। इन्होंने 14वीं शताब्दी में पश्चिमी अफ्रीका के अंतर्गत आने वाले ज्यादातर इलाकों पर राज किया था। मूसा के पहले उनके बड़े भाई मंसा अबू बक्र इस सत्ता को संभालते थे। लेकिन 1312 में वे एक लंबी यात्रा पर निकल गए जिसके बाद राज्य-पाठ की सारी जिम्मेदारी मूसा पर आ गई और वे बन गए मंसा मूसा।

इतिहासकारों का कहना है कि मंसा मूसा के पास उस ज़माने में इतनी दौलत थी कि जिसका अंदाज़ा लगाना काफी मुश्किल था। कई लोगों का मानना है कि एक इंसान जितनी दौलत सोंच सकता है उससे कई ज्यादा दौलत मूसा के खजानों में भरी रहती थी। एक अनुमान के तौर पर मंसा मूसा के पास 400 बिलियन डॉलर या उससे अधिक की संपत्ति थी।

खदानों पर था मूसा का आधिपत्य

बताया जाता है कि मूसा के शासनकाल के दौरान दुनिया में सोने की मांग चरम पर थी। यही कारण था कि मूसा दुनिया के सबसे अमीर शख्स थे। दरअसल, मूसा जिस क्षेत्र के राजा थे वह इलाका सोने की खदानों के लिए जाना जाता था। माली की खदानों का सारा सोना मंसा मूसा के कब्ज़े में था।
इसके अलावा मूसा की सल्तनत में मॉरीटानिया, सेनेगल, गांबिया, गिनिया, बुर्किना फासो, माली, नाइजर, चाड और नाइजीरिया ये सभी देश शामिल थे।

60 हज़ार लोगों का काफिला लेकर निकले मूसा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मूसा धन और दिल दोनों से अमीर थे। कहा जाता है कि 1324 में जब वे मक्का की यात्रा पर निकले थे उस दौरान उनका काफिला देखकर हर कोई चौंक गया था। मूसा के इस काफिले में 60 हज़ार लोग शामिल थे। इनमें 12 हजार लोग केवल मूसा की खिदमत के लिए थे। बताया जाता है कि इस कारवां में मूसा के घोड़ों के आगे 500 लोग रेशमी लिबास में सोने की छड़ियां लेकर चल रहे थे जिन्होंने साढ़े छह हज़ार किमी का सफर तय किया था। इनके साथ 80 ऊंटों का एक जत्था भी शामिल था जिसपर तकरीबन 146 किलो सोना लदा हुआ था।

57 की उम्र में हुआ निधन
इतिहासकारों के मुताबिक, जिस वक्त मूसा का काफिला मिस्र की राजधानी काहिरा से गुजरा उन्होंने लोगों को इतना सोना दान में दिया जिससे की राज्य की अर्थव्यवस्था ही गड़बड़ा गई थी। एक दम अचानक से राज्य में महंगाई बढ़ गई थी। कुछ सालों तक यह सब चलता रहा और 57 साल की उम्र में मूसा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके बाद उनके बेटों ने सत्ता संभाली। हालांकि, वे ज्यादा दिनों तक साम्राज्य नहीं चला सके। इसके बाद पश्चिम अफ्रीका का यह राज्य-पाठ छोटी-छोटी रियासतों में बंट गया।

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.