Breaking News

KGF 2 की वह खदान जहां से अंग्रेजों ने निकाले 900 टन सोने, और भारत हो गया गरीब

कन्नड़ स्टार यश की kgf 2, 14 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है.और फिल्म को लेकर दर्शकों में काफी उत्साह देखें को मिल रहा है.बात अगर अगर kgf के पहले पार्ट की करे तो kgf ने पूरे देश भर में धूम मचाई थी और अब kgf 2 को देखने के लिए लोग बेसब्री के साथ इंतजार कर रहे हैं.फैंस इस बात का इंतजार कर रहे है की फिल्म में दिखाए गए सदियों पुराने सोने की खदान का हकदार कौन बनेगा.अगर आप यह सोच रहे हैं की इस फिल्म में दिखाई गए पात्र के अलावा ये कहानी में सोने की खदान भीं काल्पनिक है.तो आप गलत है सोच रहे है.ये खदान असली है और यह से 121 सालों से लगातार सोना निकाल गया है।

कर्नाटका के दक्षिण पूर्वी इलाके में हैं KGF

बता दें की यह इलाका कर्नाटक के दक्षिण पूर्व और बंगलौर चेन्नई एक्सप्रेस वे से 100 किलोमीटर दूर kgf है.बता दें किं जाब भारत 1871 ब्रिटिश का गुलाम हुआ करता था.तब बंगलौर माइकल फिट्ज़गेराल्ड लेवेली ने अपना घर बनवाया था.लवली किताबों के बहुत शौकीन थे.और वे किताब बहुत अधिक पढ़ा करते थे.फिर एक दिन उनको पता चला की बंगलौर से 100 किलोमीटर दूर कोलार में सोने की खदान है.

ब्रिटिश सरकार ने की घोषणा

बता दें की ब्रिटिश सरकार ने कोलार में सोने की खान का पता देने वालों को एक इनाम राशि भी रखी थी.और जो इस बात का पता देता उसे इनाम दिया जाता.जिसके बाद कोलार गांव से ही कुछ लोग बैलगाड़ी पर सवार होकर लेफ्टीनेंट जॉन वॉरेन के घर पहुंचे .जब उन्होंने वॉरेन के सामने ही अपनी बैलगाड़ी के चक्के साफ किए तो उसमे सोने के अंश मिले .लंबी पड़ताल के बाद समझ में आया की कोलार के लोग जिस तरह से हाथ खोदकर सोना निकलते है उससे तकरीबन 56 किलो गूंज सोना निकाला जा सकता है.1804 से 1860के बीच अंग्रेजों ने कोलार में काफी खुदाई की लेकिन सोना उनके हाथ नही लगा.

खदान से निकला भरी मटर में सोना.

काफी मेहनत के बाद कोलर में साल 1875 में एक बार फिर से खदान में खुदाई हुई और आखिरकार सोना मिल गया.सोना निकलने के बाद वहां के मजदूर भी हैरान रह गए .उन्हें यह नहीं पता था की.वो जिस जमीन पर रह रहे हैं वहां सोना ही सोना है.इस खदान में फिर 24 घंटे काम चलने लगे यहां पर बच्चे बूढ़े औरत सब काम किया करते थे.लगभग 1905 आते आते भारत सोने की खुदाई के मामले में 5वें नबर तक पहुंच गया.

भारत की आजादी के बाद

साल 1947 में भारत आजाद हुआ और अंग्रेज भारत छोड़ कर चले गए.लेकिन अंग्रेज भारत से इतना सोना ले जा चुके थे जिसकी आप उम्मीद भी नही लगा सकते है. सरकारी आंकड़े के हिसाब से की 121 सालों तक यहां पर खुदाई का काम चला .जिसमे से 900 टन सोना निकला.और अंग्रेज जितना सोना ले जा सकते थे अपने साथ ले गए.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *