Breaking News

बिहार के इस IPS की सार्थक पहल! शुरु की Let’s inspire Bihar मुहीम, छात्रों को मिलेगा IIT-NEET की मुफ्त तैयारी का मौका

प्रत्येक वर्ष लाखों विद्यार्थी यूपीएससी की परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं, जिनमें से कुछ को ही मौका मिलता है अपने सपने पूरे करने का। ऐसे में मेहनत करने वाला शख्स जानता है कि शिक्षा की राह में छात्रों को किन-किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

जरुरतमंद बच्चों के लिए चलाई जा रही मुहीम

patna ips officer vikas vaibhav lets inspire bihar campaign

बिहार के होनहार आईपीएस ऑफिसर विकास वैभव को भी इस बात का अंदज़ा है कि इस देश में कई विद्यार्थी ऐसे हैं जो पढ़ना तो चाहते हैं लेकिन उनकी आर्थिक तंगी अक्सर उनके आगे आढ़े आ जाती है। यही कारण है कि पुलिस अधिकारी विकास वैभव ने Let’s inspire Bihar नामक एक मुहीम की शुरुआत की है। इसके तहत वे गरीब व वंचित परिवारों के होनहार छात्रों को IIT-NEET की मुफ्त तैयारी करवाएंगे।

80 बच्चों को मिलेगा मुफ्त शिक्षा का लाभ

युवाओं के उज्जवल को लेकर चलाई जा रही इस मुहीम के तहत 80 ऐसे छात्रों का चुनाव होगा जिन्हें वाकई में शिक्षा की जरुरत है, हालांकि उनके सामने आर्थिक तंगी एक रोढ़ा बनकर खड़ी है।
इन छात्रों से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा, यह मुहीम पूरी तरह से निशुल्क है।

27 फरवरी को होगी लिखित परीक्षा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गृह विभाग के विशेष सचिव आईजी विकास वैभव ने स्वयं इस मुहीम के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि इसके पहले फेज में राजधानी पटना और भागलपुर में 40 बच्चों का हॉस्टल बनाया गया है जहां इनके खाने पीने और कोचिंग की मुफ्त व्यवस्था होगी। उन्होंने बताया कि बच्चों के चुनाव के लिए बिहार के सभी जिलों में 27 फरवरी को एक लिखित परीक्षा का आयोजन होगा जिसमें सफल होने वाले 40-40 बच्चों को इस अभियान के तहत IIT-NEET की प्रवेश परीक्षा की मुफ्त तैयारी करवाई जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, आईपीएस वैभव ने अपना ग्रेजुएशन आईआईटी कानपुर से पूरा किया था। वे साल 2003 के बिहार कैडर के आईपीएस ऑफिसर हैं। उन्हें युवाओं को मोटिवेट और अपराधियों को डीमोटिवेट करने के लिए जाना जाता है।

हाई प्रोफाइल मामलों को सुलझाने के लिए मशहूर

रिपोर्ट्स के अनुसार, जून 2015 में उन्होंने पटना के माफिया डॉन और नेता अनंत सिंह को गिरफ्तार करके सनसनी फैला दी थी। यह कारनामा उन्होंने उस वक्त किया था जब उन्हें पटना एसएसपी के रुप में कार्यभार संभाले हुए बस एक ही दिन हुआ था। जून 2005 में हुई इस हाई प्रोफाइल गिरफ्तारी ने उन्हें रातों-रात सभी की नज़रों में हीरो बना दिया था।

इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने पीएम मोदी की रैली के दौरान पटना के गांधी मैदान में जो बम ब्लास्ट हुए थे साथ ही बोधगया ब्लास्ट की जांच टीम का नेतृत्व किया था। वहीं, इससे पहले वे एनआईये में शामिल थे जहां उन्होंने कई आतंकी वारदातों से जुड़ी गुत्थियों को सुलझाया था।

आईपीएस ने ट्वीट कर दी जानकारी

गौरतलब है, अपनी इस योजना के विषय में ट्वीट कर जानकारी देते हुए आईपीएस विकास वैभव ने लिखा कि हर जिले में इसकी परीक्षा आयोजित होगी। परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए छात्रों को सही जानकारी https://forms.gle/dERMzt4wkk2SdS46A पर जा कर भरनी होगी। पूरी जानकारी फॉर्म में भरते ही मुहिम से जुड़े लोग उनके घर जाकर संपर्क कर सकेंगे। परीक्षा पास कर चयन होने वाले छात्रों को अनुभवी शिक्षक आईआईटी और नीट की तैयारी करवाएंगे।

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.