Breaking News

ग्रेजुएट चाय वाली सोशल मीडिया पर मचा रही है धूम,लोग दूर दूर से पीने आए हैं चाय

आज कल चाय बेचने का बिजनेस काफी ट्रेंड में चल रहा है.जाहिर है जिस तरह से देश में बेरोजगारी का आंकड़ा बढ़ रहा है.लोगों को पढ़ने लिखने के बाद भी बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है.ऐसे में लोग चाय और पकोड़ा बेच रहे हैं.आपने अक्सर लडको को चाय का ठेला चलाते हुए देखा होगा.लेकिन पटना में एक लड़की है जो ग्रेजुएट होने के बाद भी चाय का ठेला लगती है.

ग्रेजुएट चाय वाली के नाम से चलाती है ठेला

बता दें की बिहार की रहनेवाली 24 वर्षीय प्रियंका पूरे शहर में ग्रेजुएट चाय वाली के नाम से मशहूर है.बता दें की प्रियंका ने अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की हुई है.और उन्हें डिग्री हासिल करने के बाद भी चाय की ठेली लगाने में कोई शर्म महसूस नही होती है.दरअसल प्रियंका पिछले 2 साल से नौकरी की तैयारी कर रही हैं.और उनकी सफलता न mine के कारण उन्होंने पटना विमेंस कॉलेज के पास अपनी चाय की ठेली लगाने शुरू कर दी.हालाकि प्रियंका ने अपने चाय की ठेली के बारे में अपने घरवालों को नही बताया है.बल्कि प्रियंका का यह मानना है की उनका यह कदम भारत को आत्मनिर्भर की ओर ले जायेगा.

कुल्हड़ चाय से लेकर मसाला चाय

बता दें की प्रियंका अपनी चाय के ठेली पर अनेक प्रकार की चाय बेचती हैं.लोगोंको यह मसाला चाय,कुल्हड़ चाय,पान चाय,और चॉकलेट चाय,मिलती है,खास बात यह है की प्रियंका ने सब चाय के दाम केवल 15 से 20 रुपए रखे हुए हैं.प्रियंका ने बताया है उनकी दुकान के मुख्य ग्राहक स्टूडेंट है और उन्होंने अपने ग्राहक के लिए ठेली पर शानदार पंच लाइन भी लगाई हुई है पीना ही पड़ेगा’ और ‘सोच मत…चालू कर दे बस’. 

दोस्तों से लिया उधार

बता दें की प्रियंका ने पहले प्रधानमंत्री मुद्रा लोन स्कीम के लिए अप्लाई किया लेकिन इस स्कीम में उन्हें सफलता प्राप्त नही हुई और फिर उन्होंने अपने दोस्त राज भगत से कुछ पैसे उधार लिए और चाय की ठेली लगाने का फैसला किया.राज भगत ने उन्हें 30000 हजार रुपए दिए फिर प्रियंका ने 12500 का ठेला और अन्य सामान खरीद कर चाय की ठेली लगाई.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.