Breaking News

उग्र हाथी के सामने डटा रहा फॉरेस्ट गॉर्ड, बचाई कई लोगों की जिंदगी

कई बार संकट आने पर कुछ लोग उसे पीठ दिखाकर भागने में अपनी भलाई समझते हैं। वे सोंचते हैं कि अगर इस मुसीबत से उन्हें बचना है तो इससे मुंह छिपाकर भागने में ही भलाई है, हालांकि कुछ लोग इस दुनिया में ऐसे भी होते हैं जिनके लिए कोई भी संकट से निपटना महज़ एक खेल होता है। ऐसे लोग इस संसार में विरले ही मिलते हैं, जिन्हें मुसीबतों से उलझना और उनसे बचकर निकलने में मज़ा आता है।

आज हम आपको ऐसे ही एक व्यक्ति के विषय में बताने जा रहे हैं जिसने अचानक से आई मुसीबत के सामने घुटने टेकने की बजाए उसका डटकर सामना किया और अपने साथ-साथ कई लोगों की ज़िंदगी बचाई। कई बार आपने ऐसी खबरें सुनी होंगी जिसमें वनजीवों के उद्दंड से लोगों की जिंदगियां खराब हो जाती हैं, आस-पास के क्षेत्र में तबाही सा मंज़र दिखने लगता है।

उग्र हाथी ने बढ़ाई परेशानी

ऐसा ही कुछ पिछले दिनों संबलपुर जिले के नकटीदुल वन परिक्षेत्र में हुआ। दरअसल, यहां एक जंगली हाथी अचानक से उग्र हो गया जिसके बाद उसने इस क्षेत्र में रह रहे लोगों को परेशान करना शुरु कर दिया।

इस बात की सूचना वन की सुरक्षा में तैनात सिपाही चितरंजन मिरी पास पहुंची तो उन्होंने उग्र हाथी से क्षेत्रवासियों को बचाने का फैसला किया। इसके लिए वे मशाल जलाकर हाथी के आगे कूद गए। उस हाथी को आग दिखाकर चितरंजन मिरी ने शांत किया और उसे जंगल वापिस भेज दिया। इस तरह से इस बहादुर सिपाही ने न सिर्फ अपनी जान बचाई बल्कि क्षेत्रवासियों को भी हाथी के आतंक से मुक्त किया।

वायरल हुआ वीडियो

बता दें, अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में चितरंजन मिरी को उग्र हाथी के सामने मशाल लेकर घूमते देखा जा सकता है। वीडियो में वे हाथी के सामने निडर होकर ऐसे घूम रहे हैं जैसे कि वे पिछले 20 सालों से इस हाथी को जानते हों। उनके चेहरे पर किसी भी तरह की कोई शिकन नहीं नज़र आ रही है।

अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। लोग इस वीडियो को साझा करते हुए चितरंजन मिरी की बहादुरी की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.