Breaking News

कैंसर पीड़ित बेटे के इलाज के लिए पुलिस की नौकरी छोड़कर बना चोर, बदकिस्मती से पकड़ा गया

कई बार इंसान मजबूरी में गैरकानूनी काम भी करने को तैयार हो जाता है। उसकी परिस्थितियां उसे इन कामों की तरफ मोड़ देती हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक व्यक्ति के विषय में बताने जा रहे हैं जिसने अपने हालातों के आगे हार मानकर उनके समझौता कर लिया और चोरी जैसा गैर सरकारी काम शुरु कर दिया।

बता दें, यह मामला केरल से सामने आया है। यहां 61 वर्षीय एक शख्स को हाल ही में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उस पर गाड़ियों की चोरी करने का आरोप है। इस व्यक्ति का नाम नज़ीर अहमद इमरान उर्फ पिलाकल नज़ीर है। शुरुआत में ये व्यक्ति एक आम नागरिक की तरह ही जीवन व्यतीत करता था लेकिन हालातों ने इसे जुर्म की दुनिया की तरफ मुड़ने पर मजबूर कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय मूल के इस व्यक्ति ने 8 साल बाहरीन पुलिस में नौकरी की थी। हालांकि, निजी कारणों की वजह से उसे भारत वापिस लौटना पड़ा। यहां आकर उसके हालात इतने बद्तर हुए कि कभी जुर्म को खत्म करने का काम करने वाला शख्स खुद ही जुर्म को अंजाम देने वाला बन गया।

विदेश से लौटा भारत

जानकारी के अनुसार, पिलाकल के बेटे को कैंसर है जिसकी वजह से उसे भारत वापिस लौटना पड़ा। यहां लौटने के बाद कुछ समय तक तो उसका गुज़ारा ठीक ढंग से हुआ। लेकिन बेटे के इलाज के लिए उसके पास पैसे नहीं थे। इसलिए उसने साल 2008 में गाड़ियों की चोरी करना शुरु किया। हालांकि, उसे पकड़ लिया गया था लेकिन उसे ज़मानत मिल गई थी।

इसके बाद भी उसने अपना व्यापार चालू रखा। फरवरी 2022 में पिलाकल ने मैसूर स्थित कार सर्विस सेंटर से एक एसयूवी चुराई जिसके जुर्म में उसे एक बार फिर गिरफ्तार किया गया है।

27 जनवरी को चुराई एसयूवी

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, गोपालन आर्केड मॉल के पास स्थित की मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड सर्विस सेंटर से पिलाकल ने एक टाटा हैरियर एसयूवी पार कर दी। इस गाड़ी के मालिक का नाम इंदरमल लंकर है जो कि पेशे से व्यापारी है। उसने 27 जनवरी को अपनी गाड़ी सर्विसिंग के लिए भेजी थी जिसे सेंटर से चोरी कर लिया गया था।

इस घटना की जानकारी सर्विस सेंटर के मैनेजर ने पुलिस को दी। जिसके बाद छानबीन के दौरान पुलिस ने यह गाड़ी पिलाकल के पास से बरामद की। पुलिस ने बताया कि पिलाकल ने इस गाड़ी के नकली कागज़ बनाकर बेच दिया था हालांकि, डिलीवरी से पहले ही आरोपी को पकड़ लिया गया।

बेटे के इलाज के लिए नहीं थे पैसे

गौरतलब है, पुलिस ने जब पिलाकल से चोरी का धंधा करने की वजह जानी तो इसे सुनने वाला हर कोई दंग रह गया। उसने बताया कि पिछले कई सालों से उसका बेटा कैंसर से जूझ रहा है। उसके पास कैंसर के इलाज के लिए पैसे नहीं थे इसलिए उसने गाड़ियों की चोरी करना शुरु कर दिया।

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.