Breaking News

झारखंड के इस शख्स ने किया ऐसा एक्सपेरिमेंट,जिसे देख आप भी हो जायेंगे दंग

अगर जीवन में कुछ करने का जुनून हो तो आप के परेशानियों से लड़कर भीं अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं.हम अक्सर अपने समाज में एक से बढ़कर एक बुद्धिजीवियों को देखते हैं.जो तरह तरह का एक्सप्रीमेंट करते रहते हैं.और यह अपने मेहनत के दम पर एक्सपेरिमेंट को सफल भी बना देते हैं.और आज हम बात कर रहे है ऐसी ही व्यक्ति की जिसने अपने एक्सपेरिमेंट से सब को चौका कर रख दिया है.

झारखंड के रामगढ़ की है कहानी

दरअसल झारखंड के रामगढ़ के रहने वाले एक शख्स ने एक बहुत ही सफल एक्सपेरिमेंट किया है.आपको बता दें की इस शख्स का नाम केदार प्रसाद महतो है.और इन्होंने एक शानदार एक्सपेरिमेंट किया है.केदार के पास कोई अस्नातक डिग्री नहीं है और उन्होंने केवल 12 वीं पास की है.और बिना किसी डिग्री के रामगढ़ का रहने वाला केदार प्रसाद ने अपने गांव के लिए एक सफल एक्सपेरिमेंट किया है.बता दें की रामगढ़ के रहने वाले केदार बिजली से इतना परेशान हो गया थे की इन्होंने अपने गांव में ही बिजली बनाने के बारे में विचार किया.लेकिन केदार अपने स्कूल के समय से ही जुगाड लगा कर चीजों को बनाया करते थे।लेकिन छोटे मोटे जुगाड लगाने वाला यह सेक्स कभी सोचा नही होगा के एक दिन गांव के लिए बिजली बना देगा।

पेशे से इलेक्ट्रीशियन है केदार

दरअसल जब केदार को बचपन से ही लाइट का काम करना पसंद था.इसलिए केदार ने जब 12 वीं पास की तब से ही इन्होंने लाइट का काम करना शुरू कर दिया .केदार ने रांची में रहकर भी लाइट बनाने का काम करते थे.और इन्हे वायरिंग करने में भी महारत हासिल है.लेकिन केदार का सपना हमेशा गांव के लिए कुछ करने का था .जब केदार साल 2004 स्कूल में पढ़ते थे तब उन्होंने बिजली पैदा करने का फैसला किया था.और उन्होंने अपने एक्सपेरिमेंट से नदी का पानी प्रयोग में लाकर 12 वोल्ट बिजली को पैदा किया था.

एक बार फिर मिली सफलता

बता दें की केदार ने एक बार फिर सफल परशिक्षण किया है .और इस बार उन्होंने अपने गांव से एक किलोमीटर दूर सोनागढ़ नदी पर यह प्रशिक्षण किया,केदार ने इस एक्सपेरिमेंट पर कहा मैंने इस नदी के बीच में एक कंक्रेट टायर किया और इसमें चुंबक,कुंडल और अन्य भागों के एक साथ टरबाईन लगाया.जो धीरे धीरे बनाने में और इसका सेटअप तैयार करने में कई सालो का समय भी लगा.इसे बनाने करीब 3 लाख रुपए का खर्च आया.केदार ने बताया की इस एक्सपेरिमेंट में आर्थिक रूप से उनके दोस्तों ने भी मदद की थी.और बाकी मैने जो अपने जीवन में कमाया था वह सारी कमाई मैंने इस सफल परीक्षण में लगा दी

40 से 45 बल्ब को रौशन करने की छमता

केदार ने कहा की इस सफल एक्सपेरिमेंट से आप 100 वाट के 40 से 45 बल्ब को एक साथ रौशन कर सकते हैं.और उन्होंने इस पावर प्लांट के लिए टरबाईन और जेनरेटर भी खुद तैयार किया हैं.केदार ने बताया की अब इस पावर प्लांट के सफल प्रशिक्षण से गांव में लोग उन्हें पावर मन के नाम से पुकारते हैं.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.