Breaking News

थाने में कार्यवाही नही हुई तो पुलिस अफसर बनने का किया फैसला,अब आयरन डीएसपी के रूप में जानते हैं लोग

आजकल कल हमारे देश में लड़कियां की सुरक्षा को लेकर एक बहुत बड़ी चुनावटी है.आज अहमरे समाज में लड़कियों के साथ छेड़ छाड़ का मामला लगातार बढ़ता जा रहा है.लड़कियां अगर घर से बाहर निकलती है तो कुछ मनचले लड़के उन्हें छेड़ते हैं.और उनका घर से निकलना भी मुहाल हो जाता है.लेकिन हम आपको आज ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे है। जो कभी खुद मनचलों लडको से छेड़ छाड़ का शिकार हुई.लेकिन इस लड़की ने बदमाशों की अकल ठिकाने लगाने के लिए खुद पुलिस की नौकरी में भर्ती हुई.और इस लड़की से अच्छे अच्छे बदमाशों के हाथ पैर काप्तें हुए नजर आते हैं

बता दें की यह पुलिस डीएसपी उत्तर प्रदेश के उन्नाव की रहने वाली है.और इनका नाम श्रेष्ठा ठाकुर है.ठाकुर का जन्म बिजनेसमैन एसबी सिंह भदौरिया के घर में हुआ .श्रेष्ठा ने अपनी स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद कानपुर के कॉलेज में एडमिशन लिया था.और यहां ये कुछ मनचलों लडको की शिकार हो गई.जब पहली बार श्रेष्ठा को इन मनचलों लडको ने छेड़ने की कोशिश की तो श्रेष्टा पहले दिन खामोश रही .लेकिन इन बदमाशों ने श्रेष्ठा को दुबारा छेड़ा.जिसके लिए श्रेष्ठा को पुलिस स्टेशन का दरवाजा खटखटाना पड़ा.लेकिन पुलिस ने इस मामले की शिकायत तो दर्ज कर ली लेकिन इस मुद्दे पर उचित कारवाही नही कर पाई.जिसके बाद श्रेष्ठा ठाकुर ने इन मनचलों लडको को सजा दिलाने की कसम खाई.

खुद ही पहन ली पुलिस की वर्दी


इस समस्या से तंग आकर श्रेष्ठा ने खुद ही पुलिस की वर्दी पहनने का फैसला किया.श्रेष्ठा को इस मकाम तक पहुंचने के लिए उनके बड़े भाई मनीष ने उनका काफी साथ दिया.जिन्होंने लिखित परीक्षा से लेकर फिटनेस तक के लिए श्रेष्ठा को टर्निंग दी.और वहीं साल 2012 में श्रष्टा ने पीपीएस का एग्जाम दिया .और इस परीक्षा में श्रेष्ठा ने कामयाबी हासिल करते हुए उन्होंने पुलिस अफसर की वर्दी पहन ली.

कठिनाइयों का करना पड़ा सामना


दरअसल जब श्रेष्ठा ठाकुर कानपुर अपनी ग्रेजुशन की पढ़ाई पूरी करने के लिए गई थी.तब उनके परिवार वाले को यह ताना मिलता था.लड़कियां अब बड़ी हो गई है.और उन्हें घर में ही रहने चाहिए.लेकिन श्रेष्ठा के घरवालों ने हमेशा से साथ दिया .ताकी वह अपने सपने को पूरा कर सके.और लड़कियों का छेड़ छाड़ ही एक ऐसा मुद्दा था .जिससे लड़ने के लिए श्रेष्ठा को पुलिस की वर्दी पहननी पड़ी.आज श्रेष्ठा ठाकुर यूपी की जानी मानी पुलिस अफसर है.और अब इनको देखने के बाद गुंडे बदमाश कापने लगते हैं.और इनके नाम से ही गुंडे खौफ खाते हैं.और अब इन्हें आयरन लेडी के रूप में जाना जाता है.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.