Breaking News

इंडियन आर्मी के जवान ने अमेरिका में गाड़ दिए भारत के झंडे, इस रिकॉर्ड को तोड़ किया भारत का नाम रौशन

अपने देश का नाम रोशन करने के लिए अगर दिल में जज्बा और जुनून हो तो कोई भी परेशानी आपको इससे रोक नहीं सकती हैं बता दें कि देश में आर्मी के जवान ऐसा ही हौसला और जज्बा लेकर हर रोज बॉर्डर पर हमारी सेफ्टीके लिए खड़े होते हैं. और भारत के रहनेवाले अविनाश ने अमेरिका में हुए सैन जून कैपिस्ट्रानों में साउंड रनिंग ट्रैक रेस में 13 मिनट 25.65 सेकेंड में पूरा करते हुए 30 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया. साथ देश का नाम रौशन कर दिया है. बता दें कि अविनाश ने बहादुर प्रसाद के रिकॉर्ड को तोड़ा है. दरअसल बहादुर ने साल 1992 में 29.70 सेकंड में इस दौड़ को पूरा किया था लेकिन अब अविनाश मात्र 25 . 65 सेकंड में पूरा करते हुए विश्व रिकॉर्ड बनाया और अमेरिका में भारत के झंडे को गाड़ दिया.

अविनाश का परिचय

अविनाश मध्यम वर्गीय परिवार से हैं और यह महाराष्ट्र के रहने वाले हैं दरअसल अविनाश किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं हालांकि अविनाश को पहले एथलीट का शौक नहीं था और वह पहले इंडियन आर्मी में भर्ती होना चाहते थे और उन्होंने इंडियन आर्मी की दौड़ निकालने के बाद इंडियन आर्मी में शामिल हुए और भारत की कई सालों तक सेवा दी. उन्होंने सियाचिन बॉर्डर पर इंडियन आर्मी की नौकरी की इसके बाद उन्होंने साल 2015 में टेबल स्पोर्ट्स में रुचि लेने लगे. अविनाश ने सबसे पहले से नाम के स्पोर्ट्स इवेंट में हिस्सा लिया और वहां उन्होंने काफी अच्छा खेल दिखाया इसके बावजूद वह खुद की नजर में आए और साल 2017 में नेशनल क्रॉस कंट्री में पांचवें स्थान पर रहे हैं.

कोच हुए इंप्रेस

इसके बाद अविनाश ने अपने जीवन में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और वह अपनी जिंदगी में एथलीट को लेकर और भी ज्यादा सीरियस हो गए हैं. आगे उन्होंने स्टेपल चेज दौड़ के लिए तैयारी की साल 2018 में भुनेश्वर में हुए 58 वीं ओपन एथिलेटिक्स चैंपियनशिप में अविनाश ने 8:29:88 समय के साथ स्टीपलचेज में 37 साल पुराना रिकॉर्ड तोडा दिया.

इसके बाद अविनाश ने ओलंपिक में भी हिस्सा लिया और साल 2020 में हुए टोक्यो ओलंपिक में इन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया इन्होंने यहां पर भारत के कई रिकॉर्ड तोड़े और अपना नया रिकॉर्ड बनाया. देश का नाम रोशन कर रहे अविनाश को भारतीय एथलेटिक्स के मुख्य कोच रामकृष्णन नायर ने उनकी तारीफ करते हुए कहा कि हम अविनाश को 3000 और 5000 मीटर की दौड़ में एशियाई खेलों में उतारने की सोच रहे हैं वही खोज किस बात से अविनाश काफी खुश हैं और वह भारत के लिए और विनय रिकॉर्ड बनाना चाहते हैं.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.