Breaking News

पिता चलाते हैं प्रिंटिंग प्रेस की दुकान,लेकिन अब बेटी करेगी गूगल में नौकरी,जानिए इंस्पायरिंग स्टोरी

अगर आप जीवन में कुछ बड़ा मकाम हासिल करना चाहते है.तो आपको मेहनत से घबराना नही पड़ेगा.बल्कि उसका डट कर मुकाबला करना पड़ेगा.इंसान कुछ करने की ठान ले तो उसके सामने क्या पत्थर क्या पहाड़.वोह अपने लक्ष्य को प्राप्त कर जीवन में कुछ कर दिखता है.अगर आप अपनी जिंदगी में मेहनत करते जाए तो सफलता मिलना तय है.और ऐसा ही कुछ कमाल कर दिखाया है.कानपुर के रहनेवाली पायल खत्री ने.इन्होंने पाने पिता के सपने को सच कर दिखाया और अब यह गूगल जैसी कम्पनी में नौकरी करते हुए नजर आएंगी.आपको बता दे की गूगल में नौकरी करना बुद्धिजीवियों का सपना होता है.

32 लाख का मिला पैकेज

दरअसल पायल खत्री कानपुर की रहनेवाली है.और एनआईटी पटना से कपम्यूटर साइंस की पढ़ाई कर रही है.और पायल अभी चौथे साल में हैं.और ऐसे में पायल का प्लेसमेंट दुनिया की सबसे मशहूर कंपनी गूगल में हुआ है.पायल का यह प्लेसमेंट इसलिए भी खास बन जाता है की पायल एक साधारण परिवार से आती है.पायल ने अपनी पढ़ाई के दौरान खूब मेहनत की और उनकी सफलता आज पूरी दुनिया के सामने हैं.

पिता करते है प्रिंटिंग प्रेस का काम

बता दें की पायल के पिता एक साधारण सा प्रिंटिंग प्रेस चलाते है.तो वहीं पायल की मां एक ग्रहणी है.और काजल के पिता प्रिंटिंग प्रेस से ही वह अपने घर को चलाते है.उन्होंने पायल की पढ़ाई लिखाई में कोई कमी नहीं होने दी,और बचपन से ही काजल को पढ़ने का सपना था.और आज इस बेटी ने अपने पिता के सपने को साकार करते हुए अब गूगल जैसी कम्पनी में नौकरी करते हुए नजर आएगी.बेटी के प्लेसमेंट के बाद पिता का सीना गर्व से चौड़ा हो चुका है.

पायल की तरह कई लोगों का हुआ है प्लेसमेंट

बता दें की पायल की तरह बिहार की रहनेवाली संप्रिति यादव का भी गूगल जैसी कंपनी में सेक्शन हुआ है.और उन्हें 1.10 करोड़ रुपए के सालाना पैकेज पर यह नौकरी ऑफर की है.संप्रति यादव ने दिल्ली के दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में b tech की डिग्री पूरी की थी,.इसके बाद संप्रिती ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ 44 लाख के एनुअल पैकेज पर कमा किया था.

आईआईटी लखनऊ से हुआ अभिजीत का प्लेसमेंट

बता दें की आईआईटी लखनऊ से पढाई करने वाले अभिजीत को भी अमेजन कंपनी में 1.20 करोड़ का सालाना पैकेज मिला है.इन्हे अमेजन में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर के रूप में नियुक्त किया गया है.वहीं बता दे की अभिजीत के पिता के निधन के बाद इनकी मां ने पुश्तैनी जमीन बेचकर इनको पढ़ाया लिखाया था.और अभिजित के इस प्लेसमेंट के बाद उनकी मां का सीना गर्व से चौड़ा हो गया है.मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस साल आईआईटी लखनऊ में प्लेसमेंट के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए है.और लगभग सभी बच्चों को 100 फीसदी प्लेसमेंट मिला है.और इस साल एवरेज सैलरी पैकेज 26 लाख रुपए सालाना। का है.इस साल तकरीबन 61 छात्रों का प्लेसमेंट हुआ है.और 4 छात्रों ने हायर स्टडीज के लिए ऑप्शन चुना है.इस साल आईआईटी में बच्चों का तगड़ा प्लेसमेंट हुआ है.और पिछले साल के मुताबिक कई रिकॉर्ड टूट गए है.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.