Breaking News

बिना पैसों के भी कर सकेंगे रेल यात्रा, जानिये कैसे

पिछले कुछ समय में हमारे देश ने आधुनिकता के क्षेत्र में काफी तरक्की की है। फिर चाहें वो शिक्षा का क्षेत्र हो या फिर रेल यात्रा का। हमारे देश में पहले रेल टिकट लेने के लिए घटों लाइन में लगना पड़ता था लेकिन आधुनिकता के इस दौर में सब कुछ बदल गया है।

पहले के ज़माने में परिवार के किसी सदस्य को तत्काल कहीं जाने की आवश्यकता पड़ जाती थी तो उन्हें रेल टिकट आसानी से नहीं मिल पाती थी। हालांकि, जब से भारत में कैशलेस सुविधाओं को शुरू किया गया है तब से भारतीय रेल के टिकटों को भी कैशलेस करने का काम किया गया है। लोगों के लिए रेल को सुविधाजनक बनाने के लिए कई एप लॉन्च किये गए हैं। इसके साथ-साथ आपको कई अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं। इन एप के जरिए आपको अपने मन पंसद खाना मंगवाने से लेकर आगे की टिकट बुकिंग की भी सुविधा दी जाती है।

भारतीय रेल अब पेटीएम के साथ अपनी सुविधाओं का करेगा विस्तार

रेलवे टिकट बुकिंग को लेकर पेटीएम के साथ रेल सेवाओं में विस्तार करने जा रहा है। रेलवे ने देश में लगी ऑटमेटीक मशीन के माध्यम से यूजर्स को डिजिटल टिकटिंग सर्विस देने के लिए रेलवे के साथ पार्टनरशिप करने जा रहा है।

यूपीआई के जरिये कर सकेंगे टिकट की बुकिंग

रेलवे ने कैशलेस सिस्टम को तेज करने के लिए यूपीआई के माध्यम से टिकट बुकिंग करने के सुविधा की शुरुआत की है। यह सुविधा भारत के रेलवे स्टेशनों पर एटीवीएम मशीनों पर पहले से दी जा रही है।

पेटीएम आपके सफर को कैशलेस करेगा

पेटीएम अब कुछ ही सेक्टर्स को छोड़कर हर क्षेत्र में अपना विस्तार कर रहा है। भारतीय रेल में भी यह एक अहम हिस्सा बनने जा रहा है। पेटीएम के प्रवक्ता ने इस नई सुविधा के विषय में बताने के लिए क्यूआर कोड क्रांति का बीड़ा उठाने का काम किया है।

रेल स्टेशन पर कैसे करें टिकट बुक?

रेल स्टेशन पर जा कर वहां पर स्थित एटीवीएम मशीन पर टिकट बुकिंग के लिए मार्ग का चयन करें या रिचार्ज के लिए कार्ड नंबर डालना होगा। पेमेंट विकल्प के रूप में पेटीएम का चयन करें। इसके बाद पेमेंट लेनदेन को आसान से पूरा करने के लिए स्कीन पर प्रदर्शित क्यूआर कोड को स्कैन करे। यात्री के चयन किए गए विकल्प के अनुसार या उसके आधार पर एक फिजिकल टिकट जनरेट होने के बाद आपका स्मार्ट कार्ड रिचार्ज किया जाएगा।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *