Breaking News

पटना के गंगा घाट पर छात्रों का दिखा जामवड़ा, इस तरह करते हैं परीक्षा की तैयारी

आपने अपनी जिंदगी में रेलवे स्टेशन बस स्टैंड ओर स्कूल कॉलेज और यूनिवर्सिटी के कैंपस में बच्चों को पढ़ाई करते हुए देखा होगा. वहीं शिक्षकों की माने तो ग्रुप स्टडी करने से बहुत फायदा होता है.लेकिन क्या आपने हजारों की संख्या में बच्चों को एक साथ ग्रुप स्टडी करते हुए देखा है अगर नही तो हम आपको बिहार के एनआईटी घाट की तस्वीर देखा रहे हैं.जहां पर कई हजार बच्चे एक साथ मिलकर ग्रुप स्टडी करते हुए नजर आ रहे हैं.

बिहारवके पटना से यह तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब जोरो शोरों के साथ वायरल हो गई है.यहां पर स्टूडेंट हजारों हजार की संख्या में गंगा घाट के बगल में ग्रुप स्टडी करते हुए नजर आ रहे है.वहीं इस तस्वीर को लोग बेहद पसंद की रहे हैं. वहीं इस तस्वीर को बिजनेसमैन हर्ष गोएंका ने भी ट्विटर पर शेयर किया है.और उन्होंने कैप्शन में लिखा की यह उम्मीद और सपनो की तस्वीर है.पटना में बच्चे अपनी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं.

आईएएस अवनीश ने भी साझा की तस्वीर

आईएएस अधिकारी अवनीश ने भी इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा की ,हो कहीं भी आग लेकिन आग जलनी चाहिए, बता दें की बिहार में स्टूडेंट कड़ी मेहनत के लिए जाने जाते हैं.और यूपीएससी में अव्वल आने का रिकॉर्ड भी बिहार के ही नाम है.आईएएस अवनीश के साथ साथ कई यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

क्या है सच्चाई

दरअसल जून में आरआरबी ग्रुप डी की परीक्षा। होना है जिसको लेकर स्टूडेंट पटना के गंगा घाट के पास पढ़ाई करते हुए नजर आते हैं.बता दें की बिहार के लाखों बच्चे इस परीक्षा में बैठने वाले हैं. वहीं पटना के गंगा घाट के पास इस परीक्षा को लेकर तैयारी रोज़ लगभग 2 घंटे कराई जाती है.पढ़ाई के लिए स्टूडेंट रोज यहां 4 बजे आ जाते हैं.और एक दूसरे के साथ मिलकर ग्रुप स्टडी भी करते हैं.

एसके सर पढ़ाते हैं

गौरतलब है की बच्चे परीक्षा की तैयारी के लिए मेहनत कर रहे हैं.मीडिया से बात करते हुए इंजीनर एसके झा ने बताया की बच्चे यहां पर रोज कोचिंग करने आते हैं.और मैं उनको परीक्षा के लिए तयारी करता हूं.हम सभी छात्र और अध्यापक एक कदम आगे चल रहे हैं. एसके झा ने बताया की भारत में बेरोजगारी के कारण हजारों की संख्या में बच्चे कॉम्पिटेटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं. हर शनिवार और रविवार हम बच्चो का टेस्ट करवाते हैं।जिसमे 1200 बच्चे भाग लेते हैं. एसके झा ने बात करते हुए बताया की मैं पिछले 3 महीने से बच्चों को मुफ्त में पढ़ा रहा हूं.और बच्चों को परीक्षा की तैयारी करवाने के लिए 30 से 35 लोगों की टीम है. वहीं बिहार के बच्चे को इस तरह तैयारी करते हुए देख सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है.

About Editorial Team

Check Also

दी कश्मीर फाइल्स के साथ साथ बॉलीवुड की यह फिल्में भी इन देशों में कर दी गई बैन, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आज की इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री की बनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.