Breaking News

99,999 रुपये में नीलाम हुई असम की चायपत्ती, जानिये खासियत

इस बात से तो आप सब वाकिफ ही हैं कि असम को टी सिटी ऑफ इंडिया भी कहा जाता है। इस राज्य में रहने वाले ज्यादातर शख्स इस व्यापार से जुड़े हुए हैं। असम में चाय पत्ती की खेती सबसे अधिक होती है। इसकी डिमांड न सिर्फ भारत में बल्कि अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ईरान समेत अन्य देशों में भी होती है। रिपोर्ट्स के अनुसार, सालाना असम में 500 मिलियन किलो से भी अधिक चाय का उत्पादन किया जाता है।

आज हम आपको असम की चायपत्ती से जुड़ी बेहद ही रोचक जानकारी देने जा रहे हैं जिसके विषय में सुनने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे।

आपकी सोंच से परे है 1 किलो चाय पत्ती की कीमत

आमतौर पर एक किलो चायपत्ती की कीमत 100, 200, 300 तक होती है। हां, अगर आप ग्रीन टी या अन्य कोई चाय पत्ती ले रहे हैं तो उसकी कीमत 1000 तक भी हो सकती है। लेकिन क्या आपने कभी सोंचा है कि चायपत्ती की कीमत 99,999 रुपये भी हो सकती है।

99,999 रुपये में बिकी चायपत्ती

जी हां, असम की मशहूर गोल्डन पर्ल नामक चायपत्ती की कंपनी ने यह कारनामा करके दिखाया है। पिछले दिनों हुई नीलामी में गोल्डन पर्ल की हैंडमेड चायपत्ती कुल 99,999 रुपये में बेंची गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते सोमवार को गुवाहाटी टीम ऑक्शन सेंटर में असम की चायपत्ती की नीलामी की गई थी। इस दौरान गोल्डन पर्ल की नाहोरचुकबारी चाय पत्ती की कीमत 99,999 तय की गई।

हाथों से तैयार हुई चाय

बताया जा रहा है कि इस चायपत्ती को डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे के पास स्थित एएफटी टेक्नो ट्रेड्स की टी फैक्ट्री में तैयार किया गया है। इसे हाथों की मदद से तैयार किया गया है। सोमवार को हुई इस नीलामी में असम टीट ट्रेडर्स ने गोल्डन पर्ल की प्रीमियम चायपत्ती को 99,999 रुपये में ख़रीद लिया।

मनोहारी गोल्ड ने स्थापित किया था रिकॉर्ड

बता दें, पिछले वर्ष असम की मनोहारी गोल्ड चायपत्ती ने यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था। बीते साल हुई इस नीलामी प्रक्रिया में मनोहारी गोल्ड की चायपत्ती 99,999 रुपये की बिकी थी। इस साल अब गोल्डन पर्ल चाय ने मनोहारी गोल्ड की बराबरी कर ली है।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *