Breaking News

टूटे रेलवे ट्रैक पर इस शख्स ने दौड़कर तय किया 1 किमी लंबा सफर, बचाई सैकड़ों जिंदगियां

कहते हैं ईश्वर किसी न किसी रुप में धरती पर वास करता है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण आज हम सबके सामने है। गुजरात के निवासी राकेश बारिया ने अपने कारनामों से सिद्ध कर दिया है कि वे हमेशा समाज का अच्छा ही सोचते हैं, वे एक समाज हितैषी हैं।

टूटा ट्रैक देखकर चौकन्ना हुए राकेश

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राकेश एक दिन बकरियां चराने के लिए जा रहे थे इस दौरान उन्होंने गुजरात के दाहोद जिले में बिछी दिल्ली-मुंबई लाइन पर देखा कि पटरी आगे से टूटी हुई थी। इस बात का पता जैसे ही राकेश को लगा वे उल्टे पांव स्टेशन की ओर भागे लेकिन उन्हे कोई ऐसा शख्स नहीं मिला जिसे वे इस घटना के विषय में बता सकें। इसके बाद राकेश ने अपने पिता को फोन किया और उन्हें पूरी कहानी बताई। उनके पिता ने भी रेलवे कर्मचारियों से संपर्क साधने की कोशिश की लेकिन वे नाकाम रहे।

अब आप सोंच रहे होंगे कि इस शख्स ने ऐसा क्या किया है जो हम इसकी इतनी तारीफ कर रहे हैं। आपको बता दें कि, राकेश ने अपनी जान पर खेलकर तकरीबन 1 किमी रेलवे ट्रैक पर दौड़कर एक नहीं दो नहीं बल्कि सैकड़ों जिंदगियां बचा ली हैं। उनकी यह कहानी आईएएस अवनिश शरन ने सोशल मीडिया के जरिये दुनिया के साथ साझा की है।

लाल कपड़ा लेकर बैठा ट्रैक पर

इतनी कोशिशों के बावजूद राकेश ने हार नहीं मानी वे सीधे अपने घर गए और वहां से एक लाल रंग का कपड़ा लेकर रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए। यहां वे रेलवे ट्रैक पर कपड़ा लेकर बैठ गए। उन्होंने देखा कि सामने से एक मालगाड़ी आ रही थी। इसलिए उन्होंने कपड़े को लहराना शुरु कर दिया। लोको पायलट ने ट्रैक पर लाल निशान देखकर मालगाड़ी रोक दी। इसके बाद राकेश ने लोको पायलट को पूरी घटना से अवगत करवाया जिसके बाद अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर ट्रेन की पटरी को ठीक करवाया।

राकेश की इस पहल से न जाने कितना बड़ा हादसा टल गया। इसलिए रेलवे की तरफ से राकेश को 5000 रुपये की धनराशि इनाम के रुप में दी गई। गौरतलब है, सोशल मीडिया पर हर कोई राकेश बारिया को शेयर कर रहा है। साथ ही उसकी तारीफ में कसीदे पढ़ रहा है।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.