Breaking News

किसान के खाते में पहुंचे 15 लाख, 9 लाख का घर बनवाकर लिखी पीएम को चिट्ठी, रुपयों की सच्चाई जानकर उड़े होश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान देश की जनता से वादा किया था कि उनकी सरकार बनने के बाद विदेश से काला धन वापस आएगा तब सभी के खाते में 15-15 लाख रुपये आएंगे। तब से लेकर आज तक भारत की जनता पीएम के इस वादे का पूरा होने का इंतज़ार कर रही है और 2019 में एक बार फिर बीजेपी की सरकार बनवा दी। जनता ने सरकार इसी आस में बनवाई कि शायद पीएम इस बार अपना वादा पूरा कर दें, लेकिन दूसरी बार सत्ता में आने के तीन साल बाद भी जनता के बैंक अकाउंट सून पड़े हैं।

हालांकि, एक व्यक्ति ऐसा भी है जिसके खाते में 15 लाख रुपये तो पहुंचे जिन्हें देखकर वह खुश भी हुआ। उसे लगा कि पीएम मोदी ने अपना वादा पूरा किया है इसलिए उसने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर धन्यवाद भी किया लेकिन जब पैसों की सच्चाई खुली तो उसके होश उड़ गए।

खाते में आए 15 लाख

बता दें, यह अजीबो-गरीब मामला महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के पैठण तालुक से सामने आया है। यहां के निवासी ज्ञानेश्वर ओटे के खाते में अचानक से 15 लाख रुपये आ गए। जब उन्होंने अपना खाता चेक कराया तो उन्हें बताया गया कि इसमें 15 लाख की धनराशि है।

पीएम को लिखी चिट्ठी

इस बात की जानकारी प्राप्त हुए ज्ञानेश्वर की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उन्होंने तुरंत ही पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर धन्यवाद दिया। वहीं, ज्ञानेश्वर के परिजनों ने इन पैसों से घर बनवाने की ज़िद की जिसपर उसने हामी भर दी। अगले दिन वह बैंक गया और खाते से 9 लाख रुपये निकाल लाया। इसके बाद उसने इन पैसों से आलीशान घर बनवाया।

बैंक ने भेजा नोटिस

हालांकि, कुछ समय बाद बैंक कर्मियों की तरफ से उसे एक नोटिस भेजा गया जिसमें लिखा था कि गलती से उसके जन-धन खाते में 15 लाख रुपये भेज दिए गए थे। अब उसे इन पैसों को लौटाना होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस नोटिस को पढ़ने के बाद उसने बैंक कर्मियों से संपर्क किया जिन्होंने उसे पूरी घटना के विषय में समझाया। उन्होंने उससे कहा कि अब आपको 15 लाख रुपये बैंक को वापिस करने होंगे।

लौटाने होंगे 15 लाख

गौरतलब है, गरीब किसान ज्ञानेश्वर के सामने अब बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है। उसने 15 लाख में से 6 लाख रुपये तो बैंक को लौटा दिए हैं लेकिन 9 लाख का उसने घर बनवा लिया है। उसका कहना है कि 9 लाख रुपये बैंक को देने के लिए उसके पास नहीं हैं।

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.