Breaking News

विश्वनाथन आनंद को हराने वाले दिग्गज खिलाड़ी को 16 साल के इस लड़के ने दी चेस में मात, जानिये इनका नाम

इस बात से तो आप सब वाकिफ ही हैं कि किसी भी खेल में जीतने वाला व्यक्ति ताउम्र उसका विजेता नहीं रहता। उसकी जगह पर कल कोई और आता है, यह सिलसिला हमेशा चलता रहा है। ऐसा ही कुछ इन दिनों दुनिया के नंवर वन शतरंज खिलाड़ी मैग्नस कार्लसन के साथ हुआ। ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट एयरथिंग्स मास्टर्स के आठवें दौर में उन्हें महज़ 16 साल के लड़के ने 39 चालें चलकर धूल चटा दी। इस लड़के का नाम आर प्रगाननंदा है। इन्होंने इस कारनामे को अंजाम देकर भारत का नाम रौशन किया है।

39 चालों में दी मात

बता दें, कार्लसन और प्रगाननंदा के बीच चेस का यह मुकाबला सोमवार को खेला गया था। कार्लसन इस मैच में सफेद मोहरों के साथ अपनी चालें चल रहे थे तो वहीं प्रगाननंदा काली मोहरों से उनकी चालों को नाकाम साबित कर रहे थे। लगातार तीन बाजियां जीत चुके कार्लसन को 16 साल के प्रगाननंदा ने महज़ 39 चालें चलकर मात दे दी। इसके बाद प्रगाननंदा 12वें स्थान पर पहुंच गए।

इससे पहले 16 वर्षीय इस ग्रैंडमास्टर ने लेव आरोनियन के खिलाफ अपने कौशल से जीत दर्ज की थी। इसके साथ उन्होंने दो बाजियां ड्रॉ खेलीं थी जबकि चार मैचों में उन्हें भारी हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, अब उन्होंने दुनिया के बेहतरीन चेस प्लेयर कार्लसन को हराकर इतिहास रच दिया है।

गैरी को हराकर मशहूर हुए थे कार्लसन

बात करें, कार्लसन की तो चेस की दुनिया में उनका इतिहास काफी पुराना रहा है। वे दुनिया के बेहतरीन चेस प्लेयर्स की सूची में सबसे टॉप पर गिने जाते हैं। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर कार्लसन का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उन्हें दुनिया के दिग्गज चेस प्लेयर गैरी कासप्रोव के साथ चेस टूर्नामेंट खेलते हुए देखा गया था। यह वीडियो काफी पुराना है, इस दौरान कार्लसन महज़ 13 साल के थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मतबाकि, गैरी और कार्लसन के बीच हुआ यह मुकाबला काफी दिलचस्प था। 13 साल यह बच्चा अपनी चाल चल देता और इधर-उधर टहलने लगता। जैसे ही गैरी अपनी चाल चलते तुरंत यह लड़का अपनी चाल चल देता। देखते ही देखते यह मैच ड्रॉ हो गया था।

कार्लसन ने दी थी विश्वनाथन आनंद को मात

कार्लसन के इस कारनामे से खेल जगत में खलबली मच गई थी। इसके बाद उसका मुकाबला भारत के उम्दा चेस प्लेयर विश्वनाथन आनंद के साथ हुआ था। उस वक्त कार्लसन 22 के हो चुके थे। उन्होंने अपने से कई ज्यादा एक्सपीरियंस खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद को कुछ ही मिनटों में पछाड़ दिया था।x

About Editorial Team

Check Also

1800 करोंड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ यदाद्रि मंदिर, दरवाजों पर लगा है 125 किलो से अधिक सोना

साउथ इंडिया के मंदिरों की बात ही निराली होती है। यहां के लोगों में ईश्वर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *